Story-2 नकाब के साथ दफन हुआ कैदी -(in hindi)

 

नकाब के साथ दफन हुआ कैदी —

Toponwebs

यह किस्सा एक  ऐसे कैदी का जिसके चेहरे पर से नकाब कभी नहीं हटाया गया पूरी 34 साल की कैद के बाद वह अपने मौत के बाद जेल से रिहा हो सका लेकिन उसकी पहचान उस नकाब से कभी भी  रिहा नहीं हुई| कहा जाता है कि इस रहस्य में कैदी को नकाब के साथ ही कब्र में दफनाया गया था यह किस्सा फ्रांस का है जिसमें सन 1670 में एक आदमी को नकाब के साथ जेल में डाल दिया जाता है  कई साल से एक आदमी बास्तील के जेल में लोहे का नकाब पहन कर रहा था और ऐसी हालत में सन 1703 में उसकी मौत हो हो गई

दो बंदूकधारी पहरेदार हमेशा उसकी निगरानी में रहते थे ताकि वह कभी अपना नकाब ना निकाल सके नकाब हटाने पर उसे तुरंत गोली मारने का आदेश था नकाब लगाने के अलावा उसे किसी और तरह की परेशानी नहीं दी जाती थी उसके रहने और खाने पीने का भी अच्छा इंतजाम था और उसी सुविधा के अनुसार उसे रखा जाता था फ्रांस के मशहूर सम्राट  Louis XIV के शासनकाल में वह मौत को प्राप्त हुआ पर यह नकाबपोश कैदी कौन था यह फ्रांस के इतिहास का सबसे बड़ा सवाल बन गया  कैदी को इतने रहस्य तरीके से रखा गया था कि राजपरिवारके लोग भी नहीं जानते थेप्रसिद्ध फ्रेंच उपन्यासकार एलेग्जेंडर ड्यूमा  ने इस घटना से प्रेरणा लेकर प्रसिद्ध उपन्यास द मैन इन आयरन मास्क लिखा | इस उपन्यास में उन्होंने संभावना जताई की वह रहस्यपूर्ण कैदी और  कोई नहीं बल्कि स्वयं मशहूर सम्राट लुईस थे जिनको उनके जुड़वा भाई ने इस सम्मानित कैद में डाल दिया और खुद राजा बन बैठा | पर महेश  एक कल्पना ही लगती है क्योंकि लुई का कोई जुड़वा भाई था ऐसा कोई सबूत नहीं मिलता वहीं कुछ इतिहासकार मानते हैं कि यह सम्राट  Louis के  पिता था लेकिन यह व्यक्ति आखिरकार कौन था यह किसी को पता नहीं चल सका यह नकाबपोश आदमी आज भी एक ऐसे रहस्य बन गया बोलो और जिसे आज तक कोई नहीं खोज पाया|

 

अगर आप ऐसे ही रोचक रहस्य कहानियां पढ़ना चाहते हैं तो सब्सक्राइब कीजिए हमारे पेज को|

Source – MI

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: